Doge Coin क्या है ? जानीये सभी बाते।

हैलो मित्रों!

रुपये के सिक्के और बिटकॉइन के बारे में तो आप जानते ही है। लेकिन एक नया सिक्का है जो अब विश्व स्तर पर प्रसिद्ध है।इसे डॉगकॉइन कहते हैं।

what-is-doge-coin-in-hindi

हमारे रुपये का मूल्य हमारी मुद्रा पर आधारित है। और बिटकॉइन ब्लॉकचेन पर आधारित है। जो दुनिया भर में मौद्रिक प्रणालियों में क्रांति लाने का वादा करता है। लेकिन यह डॉगकॉइन एक मीम पर आधारित है। यह सिक्का मजाक में बनाया गया था। किसी ने डोगे मेम लिया, कुत्ते का यह मीम किसी समय काफी मशहूर हुआ था और उसमें से एक सिक्का बनाया।

कोई भी इन सिक्के को बहुत अच्छी तरह से बना सकता है। क्योंकि क्रिप्टोकरेंसी इतनी विकेन्द्रीकृत है कि कोई भी व्यक्ति अपना सिक्का खुद विकसित कर सकता है। ऐसा करने के लिए उन्हें बुनियादी कोडिंग ज्ञान की आवश्यकता होगी।अपना खुद का कॉइन बनाने के लिए लेकिन बात ये है कि ये डॉगकॉइन इतना मशहूर हो गया कि Elon Musk जैसे लोगों ने इसे खरीदना और प्रमोट करना शुरू कर दिया.

यह क्यों होता है?

बिटकॉइन की पॉपुलर होने के बाद, उसका नुकसान भी सामने आया। जैसे की इसकी ट्रांसक्शन में बहुत समय लगता है और यह पर्यावरण के लिए भी हानिकारक है। लेकिन ऐसे सिक्को के popular होने के बाद, लोगों को एहसास होने लगा की कोई भी अपना खुद का सिक्का बना सकता है।तो कुछ लोगों ने Entertainment  के लिए खुद के  सिक्के  बनाने शुरू कर दिए।और उन्होंने उस सिक्को का नाम बदल दिया और एक नया सिक्का बना दिया।

कुछ Scammers ने लोगो को लूटने के लिए अपने सिक्के भी बनाए।और लोगों को अपने सिक्कों में निवेश करने के लिए कहा। जिसके बाद स्कैमर अपना Investment वापस ले लेता था और लोगों को भारी नुकसान होता था। और Scammer अपना प्रॉफिट बना लेगा। और ऐसे ही बहुत से लोगों ने अपने  मनोरंजन के लिए बिना किसी कारण लोगो को लूटने के लिए खुद के सिक्के बनाए। Dogecoin  क्रिएट करने का उद्देश्य लोगों को धोखा देना नहीं , बल्कि लोगो के साथ सिर्फ मजाक करने का था। 

2013 में यह Doge Meme बहुत पॉपुलर हुआ था। Dogecoin के स्थापक ऑस्ट्रेलिया के रहवासी Jackson Palmer  है। Palmer  का कहना है कि उन्होंने इस विचार को मजाक के रूप में सोचा था।डॉगकोइन का कोड लाइटकॉइन पर आधारित है।लिटकोइन एक Alt – Coin  है। इसके भी कुछ लाभ हे। जैसे की कम Processing टाइम। 

लेकिन यह आश्चर्यजनक है कि डॉगकोइन की कीमत lightcoin से भी ज्यादा है। पर नजर डालें तो बिटकॉइन, एथेरियम और बिनेंस के बाद डॉगकॉइन दुनिया की सबसे बड़ी चौथी क्रिप्टोकरेंसी  बन चुकी है। 

यह भी पढ़े : Cryptocurrency से जुड़ा अपराध पहुंचा टॉप पर, जानिए 2021 में निवेशकों ने कितनी रकम गंवाई।

सबसे बड़ा सवाल यह है कि यह कैसे हो सकता है? 

मजाक के रूप में बनाये गए  सिक्के को इतनी लोकप्रियता कैसे मिली? लोग इसे क्यों खरीद रहे हैं? पहला कारण Reddit वेबसाइट है। Reddit वेबसाइट पर लोगों ने शुरू में इसे मजाक के रूप में Use करना शुरू कर दिया। 

उस समय डॉगकोइन का मूल्य 0.0002¢ था। जो की एक बहुत काम रकम थी। लेकिन फिर भी रेडिट पर इस कॉइन की लोकप्रियता बहुत बढ़ गई । डॉगकॉइन का इतना ज्यादा उपयोग हुआ की इसका मूल्य तेजी से बढ़ने लगा।

जब Elon musk ने इसके बारे में ट्वीट करना शुरू किया हो इसकी कीमत आसमान पर पहुंच गई थी। और आज एक डोगेकोईन की कीमत है। 

डॉगकोइन को खरीदने की प्रक्रिया क्या है?

यह किसी भी अन्य क्रिप्टोकरेंसी को खरीदने जैसा ही है। आपको एक क्रिप्टोक्यूरेंसी एक्सचेंज प्लेटफॉर्म का उपयोग करने की आवश्यकता होगी। डॉगकोइन के वास्तविक जीवन के उपयोग के बारे में बात करते हुए, डॉगकोइन के समुदाय ने कई धर्मार्थ कारणों के लिए दान दिया है। उनका पहला दान $30,000 का जमैका बोबस्लेय टीम को था। 

ताकि टीम 2014 के रूसी शीतकालीन ओलंपिक में भाग ले सके।इसके बाद, केन्या में कुछ जल वार्तालाप परियोजनाओं के लिए और कुछ विशेष आवश्यकता वाले बच्चों की सहायता के लिए, डॉगकोइन के समुदाय ने पैसे दान किए।

केवल अपनी कीमत के कारण डॉगकोइन अब इतना पॉपुलर हो गया है।और लोग इसमें इन्वेस्ट भी कर रहे हे। मैं आपको यहां कोई निवेश सलाह नहीं दे रहा हूं।आप चाहें तो डॉगकॉइन खरीद सकते हैं। मैं सिर्फ इतना कह रहा हूं कि आप बड़े जोखिम से सावधान रहें। लेकिन निवेश में जोखिम जितना अधिक होगा, उच्च रिटर्न की संभावना भी उतनी ही अधिक होगी। यह संभव है कि कुछ वर्षों के बाद, डॉगकोइन का मूल्य मात्र $1 के बजाय $100 पर भी हो सकता है। 

यह भी पढ़े : फ्री में क्रिप्टोकोर्रेंसी कैसे कमाए ?

लेकिन यह भी उतना ही संभव है कि इसका मान अभी 0.50¢ के बजाय 0 हो जाए। आपका सारा निवेश गायब हो सकता है। क्योंकि आने वाले समय के बारे में कोई नहीं जानता। मेरी सलाह है की आप उतना ही इन्वेस्ट करे जिसका आप नुकसान सहन कर सकते हो।  

यदि कल बिटकॉइन की कीमत ० हो जाती हे तो आपके सारे रूपये डूब जायेंगे। और डॉगकोइन बिटकॉइन से ज्यादा जोखिम भरा है।क्योंकि बिटकॉइन का मूल्य अधिक है। क्योंकि बिटकॉइन एक क्रांतिकारी तकनीक प्रस्तुत करता है। यह एक वैकल्पिक मौद्रिक प्रणाली प्रस्तुत करता है। लेकिन डॉगकोइन के साथ ऐसा नहीं है।

लेकिन साथ ही ये भी याद रखिये दोस्तों, कि समाज में केवल उन्हीं चीजों का कोई मूल्य है, जिन पर लोग विश्वास करते हैं। अगर लोग सोचते हैं कि किसी चीज का मूल्य होना चाहिए, तो ऐसा होता है। आप इसे बहुत सी चीजों के साथ देख सकते हैं। अगर लोग सोचते हैं कि ब्रांडेड कपड़ों की कीमत होती है, तब उनका मूल्य मौजूद होता है और लोग उन्हें अत्यधिक कीमतों पर खरीदते हैं। यही बात डॉगकोइन पर भी लागू होती है। अगर हम में से हर कोई यह मानने लगे कि डॉगकोइन का वास्तव में एक मूल्य है भले ही वास्तव में कोई नहीं है, लोग इसे खरीदना चाहेंगे जिससे इसकी कीमत बढ़ेगी। और इसके पीछे क्या कारण हो सकते हैं?

अगर कोई दावा करता है कि Elon Musk का ब्रांड डॉगकोइन से जुड़ा हुआ है और उसका मूल्य बहुत अधिक है। यदि किसी कपड़े को किसी ब्रांड द्वारा चिह्नित किया जाता है तो इसका उच्च मूल्य होता है।इसी कारण से कोई कह सकता है कि डॉगकोइन का मूल्य अधिक होना चाहिए। अगर समाज इस पर विश्वास करने लगे तो इसका मूल्य बढ़ेगा। और अगर समाज नहीं करता है, तो इसका मूल्य गिर जाएगा।

मुझे आशा है कि आपको यह लेख पसंद आया होगा।

यह भी पढ़े : क्या होते हैं Airdrops? कैसे निवेशकों को मिलते हैं फ्री कॉइन ?

Leave a Reply

Your email address will not be published.