Cryptocurrency Bill Update in India | PM Narendra Modi on Crypto Bill 2022

नमस्कार दोस्तों, मैं एक बहुत ही महत्वपूर्ण अपडेट साझा कर रहा हूं।

crypto-bill-update

क्रिप्टोक्यूरेंसी बिल के संबंध में तत्काल आधार पर। और कल हमारे प्रधान मंत्री ने एक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में क्रिप्टोकरेंसी के बारे में बहुत कुछ बोला है, उस पर भी मैं चर्चा करूंगा।

लेकिन पहली बात जिस पर मैं चर्चा कर रहा हूं वह है क्रिप्टो बिल का अपडेट। हम सभी जानते हैं कि क्रिप्टोकुरेंसी के बारे में हमारा बिल जिसे बजट सत्र 2021 और शीतकालीन सत्र 2021 के तहत सूचीबद्ध किया गया था।

लेकिन उस पर कोई चर्चा नहीं हुई। वह बिल संसद के अंदर पेश नहीं किया गया था।अब यहीं उम्मीद थी कि हमारा बजट सत्र 2022 आ रहा है जो जनवरी के अंत से शुरू हो रहा है इस सत्र में हमारा क्रिप्टोकुरेंसी बिल पेश किया जाएगा।

क्योंकि लंबे समय से लगातार हर सत्र में बिल को सूचीबद्ध किया जा रहा था। लेकिन उस पर कोई चर्चा नहीं हुई।लेकिन यहां आर्थिक समय से एक खबर है। और इस खबर के अंदर वित्त मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बयान दिया है।

इस बजट सत्र 2022 में क्रिप्टोक्यूरेंसी बिल पेश नहीं किया जा सकता है।

क्योंकि क्रिप्टोकरेंसी एक जटिल विषय है। हमें इस पर नियमन लाने के लिए उचित समय चाहिए। तो यहां यह बयान वित्त मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी के माध्यम से दिया गया है। लेकिन पिछली बार की बात करें तो 2021 के बजट सत्र और शीतकालीन सत्र 2021 में भी ऐसा ही हुआ है।

दोनों के अंदर हमारा बिल लिस्ट में था। यानी बिलों की लिस्ट थी जिसमें हमारा बिल था। लेकिन इसे पेश नहीं किया गया यानी इस पर कोई चर्चा नहीं हुई।और यही बयान यहां भी दिया गया है कि बजट सत्र 2022 में भी बिल पेश नहीं किया जाएगा। यहां संभावना है लेकिन देखते हैं क्या होता है हमारा बजट सत्र 2022 दो सत्रों के भीतर चलने वाला है।

पहला सत्र 31 जनवरी से शुरू होकर 11 फरवरी तक चलेगा। और फिर 14 मार्च से शुरू होकर 8 अप्रैल तक चलेगा।

दो सत्रों में होगा, तो देखते हैं क्या होता है, क्या इसे यहां पेश किया जा सकता है? अगर इसे पेश किया जाता है, तो इस पर कोई चर्चा हो पाती है या नहीं, यह देखना होगा। और क्रिप्टो बिल में क्या दिया गया है, सरकार क्या फैसला ले सकती है।

यह तो आने वाला समय ही बताएगा। क्योंकि अभी तक क्रिप्टो बिल हमारे सामने नहीं आया है। बहुप्रतीक्षित क्रिप्टो बिल अभी हमारे सामने नहीं आया है। देखते हैं क्या होता है और उस बिल के अंदर क्या दिया जाता है।यह तो आने वाला समय ही बताएगा।

इसके अलावा कल हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीने एक विश्व आर्थिक मंच के अंदर क्रिप्टोकुरेंसी के संबंध में एक बयान दिया है।

जिसमें नरेंद्र मोदी ने कहा है कि, एक सामूहिक वैश्विक प्रयास की जरूरत है। क्रिप्टोकुरेंसी से जुड़ी समस्याओं से निपटने के लिए।

इसका मतलब है कि क्रिप्टोकरेंसी से जो भी चुनौतियां आ रही हैं, इनसे निपटने के लिए वैश्विक प्रयास की जरूरत होगी। हमें सामूहिक निर्णय लेना होगा। साथ ही उन्होंने यह बयान भी दिया है कि, यह किस तरह की तकनीक से जुड़ा है।

यानी वह तकनीक जिसका इस्तेमाल क्रिप्टोकरेंसी में किया जा रहा है। तो उसके लिए किसी एक देश का निर्णय अक्षम होगा। इसकी चुनौतियों से निपटने के लिए। फिर से, चुनौतियों से निपटने के लिए यदि कोई एक देश निर्णय ले रहा है।

यदि कोई कदम उठा रहा है तो वह निष्प्रभावी होगा। यहां हमें क्रिप्टोकुरेंसी के बारे में सामूहिक रूप से सोचना चाहिए।

नरेंद्र मोदी जी ने यहां यह बयान दिया है। और यह विश्व आर्थिक मंच में कहा गया है, जो एक ऑनलाइन कॉन्फ्रेंसिंग था। वहीं उन्होंने बयान दिया है.

तो यह है क्रिप्टो बिल के बारे में अब तक का अपडेट, अगला अपडेट जो भी होगा, यदि हमारा क्रिप्टो बिल सूचीबद्ध है और बजट सत्र में पेश किया गया है।

तो मैं अपने लेख पर आपके साथ जरूर साझा करूंगा।

यह भी पढ़े : What is Liquid Staking? Liquid Staking से लाभ कैसे प्राप्त करें ? 

Leave a Reply

Your email address will not be published.